प्रधानमंत्री नये अपराधिक कानूनों का क्रियान्वयन करे स्थगित और नेता प्रतिपक्ष कराए स्थगित

 

 

आज,अधिवक्ता कल्याण संघर्ष समिति के बैनर तले अधिवक्तागण कानपुर बार एसोसिएशन गेट से

नए कानूनो का क्रियान्वन स्थगित करो स्थगित करो पहले सब को जागरुक करो तब नए कानून लागू करोआदि नारे लगाते हुए जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंचे जहां पर बोलते हुए संघर्ष समिति संयोजक पंडित रवीन्द्र शर्मा पूर्व अध्यक्ष लॉयर्स एसोसिएशन ने बताया कि भारत सरकार द्वारा देश की सैकड़ो वर्ष पुरानी आई पी सी, सीआर पी सी और इविडेंस एक्ट के स्थान पर भारतीय न्याय संहिता, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता और भारतीय साक्ष्य अधिनियम बना दिए जिन्हें 1 जुलाई से लागू किया जाना है तीनों नए आपराधिक कानूनो में अधिकतर धाराओं को बदल दिया गया है नए कानून अभी विधि शिक्षा में भी सम्मिलित नहीं है इसकी वजह से नवागंत अधिवक्ताओं को भी इनकी जानकारी नही है बदली धाराओं की जानकारी आम जनमानस को भी नही दी गई है यदि लोगों को जागरूक किए बिना कानून लागू किए जाते हैं तो आम आदमी सहित हम अधिवक्ताओं को भी समस्याएं आएंगी यदि बिना जागरूक किए नए कानून लागू किए जाते हैं तो देश में पुलिसिया राज कायम हो जाएगा और जानकारी के अभाव में लोग न्याय से वंचित होंगे।प्रमुख रूप से नरेश चन्द्र त्रिपाठी अरविन्द दीक्षित संजीव कपूर विजय सागर कंचन गुप्ता राम जी दुबे अखिलेश सिंह गौरांग त्रिवेदी राजुल श्रीवास्तव नूर आलम विशाल कनोजिया भागवत आकाश शर्मा राकेश शाह संदीप वर्मा शुभम जोशी के के यादव आदि रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *